Book Creator

Hindi Activity

by Aarush Raghav

Cover

Loading...
हिंदी परियोजनाकार्य
Loading...
तिब्बत
Loading...
Loading...
Loading...
 प्रस्तुत कर्ता :
आरुष राघव
IV ग्रीन 
क्या तिब्बत एक स्वतंत्र देश है?

तिब्बत के इतिहास का वर्णन बहुत स्पष्ट रूप से बोलता है और साबित करता है कि तिब्बत हमेशा एक स्वतंत्र राज्य रहा है, अधिकांश 2000 साल पहले।ऐतिहासिक रूप से तिब्बत हमेशा से एक स्वतंत्र राज्य और भारत और चीन के बीच एक बफर रहा है।
विशाल तिब्बती पठार की उपग्रह छवि: सौजन्य नासा। एक स्वतंत्र देश के रूप में तिब्बत दुनिया का दसवां सबसे बड़ा देश होता।
तिब्बत के निर्वासित नागरिक आजादी के लिए शुरू किए गए आंदोलन की 50वीं वर्षगांठ मना रहे हैं। चीन द्वारा तिब्बतियों पर किए गए अमानवीय अत्याचारों को लोग धीर-धीर भूल रहे हैं। भारत में भी नई पीढ़ी के नौजवानों में से अधिकतर लोगों को यह पता नहीं है कि तिब्बत कभी एक तरह से भारत का ही अंग हुआ करता था। रक्षा, विदेश नीति, आंतरिक सुरक्षा तथा दूरसंचार के मामले में वह पूर्णत: भारत पर आश्रित था। वहां भारतीय सैनिक तैनात थे। यद्यपि उनकी संख्या बहुत सीमित थी। तिब्बत एक शांतिप्रिय देश था
1951 की संधि के अनुसार यह साम्यवादी चीन के प्रशासन में एक स्वतंत्र राज्य घोषित कर दिया गया।
PrevNext